Jul 7, 2017

सिद्धू ने चलाया डंडा, तीन एसई और 17 एक्सईएन का प्रमोशन रद - jagran.

Image result for सिद्धू ने चलाया डंडा, तीन एसई और 17 एक्सईएन का प्रमोशन रद - jagran.
पंजाब के स्‍थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने अपना डंडा चलाते हुए 20 अफसरों के प्रमोशन रद कर दिया है। इन अफसराें के प्रमोशन बादल सरकार ने विधानसभा चुनाव से ठीक पहले किए थे।

पटियाला, [संजय वर्मा]। स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने पंजाब विधानसभा चुनाव के समय कोड ऑफ कंडक्ट लगने से एक दिन पहले तत्कालीन अकाली-भाजपा सरकार द्वारा पदोन्नत किए गए तीन एसई तथा 17 एक्सईएन को रिवर्ट करने के आदेश जारी किए हैं। उन्‍हाेंने इन सभी अफसरों की पदोन्‍नति खारिज कर दी है।

चुनाव के लिए कोड ऑफ कंडक्ट लगने से एक दिन पहले अकाली-भाजपा सरकार ने किए थे प्रमोशन

सिद्धू ने अपने आदेश में कहा है कि ये पदोन्‍नतियां विभाग की प्रमोशनल कमेटी की सिफारिश के बिना की गई थीं। इन अनियमितताओं को दूर करने के लिए इन 20० अधिकारियों की तरक्की रद की गई है। बता दें कि अकाली-भाजपा सरकार के समय पंजाब में कोड ऑफ कंडक्ट लगने से ठीक एक दिन पहले स्‍थानीय निकाय विभाग में थोक में तरक्कियां की गई थीं। इसी कड़ी में कई ऐसे कर्मचारियों व अधिकारियों को तरक्की मिल गई, जो उसके काबिल नहीं थे।

बाद में इन तरक्कियों का मामला तूल पकड़ गया और पंजाब में नई सरकार के गठन के बाद अकाली-भाजपा सरकार के दौरान हुए कामों की जांच शुरू कर दी गई। हालांकि नई सरकार में इस प्रक्रिया को पूरा करने में भी तीन महीने से अधिक का समय लग गया, लेकिन सिद्धू के इस फैसले से साफ हो गया है कि स्‍थानीय निकाय विभाग में दस मामले में कार्रवाई चलती रहेगी और सफाई का अभियान जारी रहेगा।


स्थानीय निकाय विभाग की ओर से बुधवार को जारी आदेश में जालंधर के एक्सईएन नवीन मल्होत्र, जसवंत सिंह व राज कुमार, होशियारपुर से अश्विनी कुमार, बूटा राम व दीपांकर, विक्रम कुमार चंडीगढ़ मुख्यालय, गुरमेल सिंह पटियाला, सुखजीत सिंह बरनाला, मुख्तयार सिंह और गुरराज सिंह बङ्क्षठडा, लाभ सिंह और जगदेव सिंह लुधियाना, रमिन्द्रपाल सिंह, बरजिंद्र मोहन, बिक्रम सिंह अमसर के साथ राकेश कुमार कपूरथला को फिर से एसडीओ पद पर रिवर्ट कर दिया गया है।

इसके अलावा एसई पद पर पहुंचे अतुल शर्मा चंडीगढ़ मुख्यालय, सतिन्द्रजीत सिंह इंप्रूवमेंट ट्रस्ट अमृतसर और प्रदीप जैसवाल इंप्रूवमेंट ट्रस्ट बठिंडा को फिर से एक्सईएन पद पर रिवर्ट कर दिया गया है।


आदेश में कहा गया है कि प्रमोशन करते समय इनका रोस्टर प्वाइंट नजरअंदाज किया गया था, जिस कारण विभाग के आदेशों का उल्लंघन हुआ है। इसमें कहा गया है कि अस्थायी वरिष्ठता सूची के आधार पर प्रमोशन करना गलत है। तरक्कियां विभाग की प्रमोशनल कमेटी के बिना करना कानून के मुताबिक नहीं है। इससे अयोग्य अधिकारियों को लाभ मिला है।
- jagran.

Follow by Email

Google+ Followers

Followers