LATTEST NEWS

Jun 4, 2016

7th पे-कमीशन का लालच देकर भारत के अफसरों से डाटा चुरा रहा PAK का एक ग्रुप

नई दिल्ली. पाकिस्तान का एक ग्रुप फर्जी न्यूज वेबसाइट के जरिए 7th पे-कमीशन का लालच देकर गवर्नमेंट ऑफ इंडिया के ऑफिसर्स का डाटा चुरा रहा है। इस ग्रुप ने ऑफिसर्स को 7th पे-कमीशन का रेफरेंस देते हुए फर्जी ई-मेल भेजे हैं। साइबर सिक्‍युरिटी फर्म FireEye ने दावा किया है कि यह फर्जी न्यूज वेबसाइट 18 मई 2016 को पाकिस्तान में रजिस्टर्ड कराई गई है।फाइल के जरिए अपलोड कर लिया जाता है डाटा...
- फायरआई का दावा है कि गवर्नमेंट ऑफ इंडिया के ऑफिसर्स को timesofindiaa.in नाम की वेबसाइट से मेल भेजे जा रहे हैं।
- इन ई-मेल में एक खतरनाक माइक्रोसॉफ्ट वर्ड फाइल अटैच होती है।
- मेल के जरिए ऑफिसर्स से इस फाइल को खोलने के लिए कहा जाता है।
- सिक्‍युरिटी फर्म का दावा है कि जैसे ही इस फाइल को क्लिक किया जाता है, कम्प्यूटर पर कई तरह के प्रोग्राम चलने लगते हैं।
- इस फाइल के जरिए ही कम्प्यूटर से डाटा अपलोड कर लिया जाता है।
- बता दें कि 7th पे-कमीशन को 30 जून से लागू किया जाना है।
- इससे पहले Kaspersky ने ऐसा दावा किया था कि भारत सरकार की वेबसाइट्स की साइबर जासूसी की जा रही है।

कंपनी ने पोस्ट किया ब्लॉग

- फायरआई ने इस खुलासे को लेकर एक ब्लॉग भी पोस्ट किया है।
- ब्लॉग में फायरआई के एशिया पैसेफिक के चीफ टेक्‍नोलॉजी ऑफिसर ब्रायस बोलेंड ने कहा है, "ऐसे एडवांस्‍ड साइबर हमलों को रोकने के लिए फिलहाल कोई टेक्निक नहीं है।"
- बोलेंड ने लिखा है कि इस तरह के हमलों की तुरंत पहचान करने के लिए इंडियन ऑर्गनाइजेशन को साथ आना होगा और एक्सपर्टीज दिखानी होगी।

काफी सालों से एक्टिव है यह ग्रुप

- फायरआई के मुताबिक यह पाकिस्‍तानी ग्रुप कई सालों से एक्टिव है।
- साइबर सिक्‍युरिटी फर्म का दावा है कि यह ग्रुप साउथ एशिया में पॉलिटिकल इन्फॉर्मेशन कलेक्ट कर रहा है और आर्मी को निशाना बना रहा है।
- फायरआई ने पहले भी ऐसे ही एक ग्रुप के बारे में खुलासा किया था जिसने 2013 में पाकिस्तानी असंतुष्टों और मार्च 2016 में इंडियन टारगेट्स पर साइबर अटैक किया था।
- फर्म का दावा है कि नया ग्रुप भी वैसा ही है।
SOURCE - BHASKER

Follow by Email

Google+ Followers

Followers